फेसबुक और व्हाट्सएप का हांगकांग सरकार को इनकार, यूजर्स का मांगा था डाटा | china – News in Hindi


फेसबुक और व्हाट्सएप का हांगकांग सरकार को इनकार, यूजर्स का मांगा था डाटा

प्रतीकात्मक तस्वीर.

चीन (China) ने हांगकांग (Hong Kong) में अलगाववादी गतिविधियों में शामिल लोगों पर कार्रवाई करने के लिए विवादित कानून को लागू कर दिया है. लोगों को आशंका है कि इस कानून का इस्तेमाल इस अर्द्धस्वायत्त क्षेत्र में विरोध की आवाजों को दबाने के लिए किया जा सकता है.

हांगकांग. फेसबुक (Facebook) और इसके स्वामित्व वाली व्हाट्सएप (WhatsApp) ने हांगकांग सरकार की ओर से मांगी जा रही उपभोक्ताओं की जानकारी साझा करने से इनकार कर दिया है. एएफपी ने सोमवार को एक ट्वीट के जरिए इसकी जानकारी दी. कंपनी के प्रवक्ता ने कहा कि हमारा मानना है कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता एक मौलिक मानवीय अधिकार है. हम लोगों की सुरक्षा या अन्य नतीजों के लिए बिना किसी डर के खुद को व्यक्त करने के अधिकार का समर्थन करते हैं. बता दें कि चीन (China) ने हांगकांग (Hong Kong) में अलगाववादी गतिविधियों में शामिल लोगों पर कार्रवाई करने के लिए विवादित कानून को लागू कर दिया है. लोगों को आशंका है कि इस कानून का इस्तेमाल इस अर्द्धस्वायत्त क्षेत्र में विरोध की आवाजों को दबाने के लिए किया जा सकता है.

वहीं दूसरी तरफ, चीन द्वारा बनाए गए नए सुरक्षा कानून के जवाब में कनाडा ने हांगकांग के साथ अपनी प्रत्यर्पण संधि निलंबित कर दी है. प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने यहां कहा कि कनाडा हांगकांग को संवेदनशील सैन्य साजो सामान का निर्यात करने की अनुमति नहीं देगा. कनाडा हांगकांग को निर्यात किए जा रहे संवेदनशील सामान पर भी रोक लगाएगा, जैसे कि उन्हें मुख्य भूमि चीन में भेजा जा रहा हो. उन्होंने कहा कि कनाडा हांगकांग के समर्थन में खड़ा रहेगा जो कि तीन लाख कनाडाइयों का घर है. चीन का नया सुरक्षा कानून जो मंगलवार रात को हांगकांग में लागू हुआ चार श्रेणियों के अपराधों की सूची देता है. एकांत, तोड़फोड़, आतंकवाद और अन्य देश या बाहरी तत्वों के साथ मिलीभगत से राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरे में डालना. प्रत्येक अपराध के लिए अधिकतम जुर्माना आजीवन कारावास है. हालांकि, कुछ मामूली अपराधों के लिए सजा तीन साल से कम है.

ये भी पढ़ें: चीन से खफा डोनाल्ड ट्रंप ट्विटर पर फिर बरसे, कहा- दुनिया का किया नुकसान

आलोचना पर भड़का चीन
कनाडा द्वारा हांगकांग के लिए सुरक्षा कानून की आलोचना किए जाने पर चीन भड़क गया है. दोनों देशों के बीच एक सप्ताह के भीतर यह दूसरी बार तकरार है, जिससे दोनों देशों के संबंधों में खटास बढ़ गई है. ओटावा में चीन के दूतावास ने अपनी वेबसाइट पर एक बयान जारी कर कहा कि कनाडा ने चीन के मामलों में दखल दिया है. इसने कहा कि कनाडा समेत कुछ पश्चिमी देश मानवाधिकार के नाम पर हांगकांग में दखल दे रहे हैं. यह अंतरराष्ट्रीय कानून और अंतरराष्ट्रीय संबंधों के बुनियादी सिद्धांतों का खुला उल्लंघन है. हांगकांग के वरिष्ठ अधिकारियों ने कनाडा के प्रत्यर्पण संधि निलंबित करने के फैसले पर निराशा जताई है. उन्होंने अंदरूनी मामलों में दखल देने के लिए अमेरिका की आलोचना भी की है. हांगकांग के सुरक्षा प्रमुख जॉन ली ने कहा, कनाडा की सरकार को कानून के शासन की व्याख्या करने और दुनिया को यह समझाने की आवश्यकता है कि वह भगोड़े लोगों को कानूनी जिम्मेदारियों से भागने की इजाजत क्यों देता है.

First published: July 6, 2020, 8:29 PM IST





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *
You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>